Kaziranga National Park detail in Hindi

क्या आप इस बार Kaziranga National Park जाना चाहते हैं Hindi में? जानिए इसकी history, wildlife, best time to visit, things to see और कई detail आसन भाषा में | विश्व में क्षेत्रफल के दृष्टि से भारत सांतवे स्थान पर है | यह विश्व के कुल 3.287 million km2 में फैला हुआ है | भारत के इस क्षेत्रफल में कई प्रकार की प्राकृतिक संरचना है | जिसमे कई बड़े एवं घने जंगल स्थित है | यहाँ स्थित इन जंगलो में कई उद्यान एवं वनजीव अभ्यारण है जिसका लुफ्त उठाने के लिए कई स्थानों से लोग आते है | ऐसे उद्यान एवं वनजीव अभ्यारण में एक काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान | यह भारत के असम के गोलाघाट एवं नागांव जिले में स्थित है | इस पार्क स्थल को विश्व धरोहर के रूप में भी जाना जाता है |

Kaziranga National Park in hindi



इस park में मुख्य रूप से एक सींग वाला गेंडा पाया जाता है जिसे भारतीय गेंडा के रूप में भी जाना जाता है | इस park में एक सींग वाले गेंडा के अलावा और भी कई स्तनपाई जीव पाए जाते हैं जैसे:- बाघ, हाथी, चीते, भालू, लंगूर, भेड़िया आदि | काजीरंगा के जंगल में मुख्य रूप से elephant grass, marshland एवं चौड़े पत्ते वाले घने उष्णकटिबंधीय नम तरल वनों के लिए जाना जाता है |

About Kaziranga National Park

असम के गोलाघाट एवं नागांव जिले में स्थित Kaziranga national park कुल 430 km2 के क्षेत्रफल में फैला हुआ है | इस park की स्थापना सन 1908 में की गई थी | यह उद्यान एक प्रकार का धरोहर है जो सिर्फ भारत का ही नहीं बल्कि यह पुरे विश्व का धरोहर है | 1904 में जब Kedleston के लॉर्ड कर्जन की पत्नी मैरी कर्सन जब एक सींग वाले गेंडा को देखने के लिए इस क्षेत्र का दौरा कर रही थी तो उन्हें एक भी गेंडा नहीं दिखा | तब वापस आ कर Kedleston के Lord Curzon इस क्षेत्र में घट रहे परिजातियो के संरक्षण के लिए मजबूर किया और 1905 में 232 km2 क्षेत्रफल में काजीरंगा प्रस्तावित रिजर्व वैन के रूप में तैयार किया | धीरे धीरे आवश्यकता के अनुसार इसके क्षेत्रफल का विस्तार होता गया और आज इस park का कुल क्षेत्रफल 430 km2 है | इस park के निर्माण का मुख्य उदेश्य लुप्त हो रही एक सींग वाले गेंडे के प्रजाति का संरक्षण करना | इस park में गेंडे के अलावा और भी कई वनजीव का निवास था |

History

समय के साथ साथ सब कुछ बदलता चला गया एवं 1950 में P. D. Stracey के द्वारा इसका नाम बदल कर काजीरंगा वनजीव अभ्यारण रखा गया | 1954 में असम सरकार के द्वारा इस अभ्यारण के लिए एक बील का निर्माण की जिसके तहत गेंडे के शिकारी को भरी दंड का प्रावधान था जो 1968 में Assam National Park Act of 1968 के रूप में पास की गई और इसे राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया | 1985 में UNESCO के द्वारा इस park को विश्व धरोहर के रूप में घोषित किया | काजीरंगा को दुनिया के सभी संरक्षित क्षेत्रों में बाघों की उच्च घनत्व का घर है जिस कारण इसे 2006 में सरकार के द्वारा इसे tiger reserve के रूप में घोषित किया गया |

Wildlife

Elephant ride in kaziranga national park



430 km2 के क्षेत्रफल में फैले इस राष्ट्रीय उद्यान में तीन बड़े शाकाहारी प्राणी (हांथी, गेंडा एवं हिरन) के अलावा यहाँ कुल 35 प्रकार के स्तनधारी प्रजाति का प्रजनन आबादी के रूप में जाना जाता है | सर्वाधिक एक सींग वाले गेंडे इसी park में पाए जाते है | अगर आप इस park में घुमाने के आना चाहते है तो आपको यहाँ एक सींग वाला गेंडा, एशियन water buffalo, पूर्वी दलदली हिरन, हांथी, Gaur, Sambar, बाघ, चीता आदि |

कहा जाता है की यहाँ पाए जाने वाला water buffalo की आबादी विश्व में पाए जाने कुल जनसंख्या का 57% आबादी काजीरंगा में पाए जाते है | water buffalo के अलावा यहाँ पाए जाने वाले बाघ का घनत्व पुरे विश्व में सबसे अधिक है | इन सभी जीव के अलावा इस park में और भी कई प्रकार के जीव जंतु को देखा जा सकता है | काजीरंगा में कई प्रवासी पक्षी, पानी के पक्षी आदि पाए जाते है | यहाँ के जंगलो में आपको विभिन्न प्रकार के सांप एवं विभिन्न प्रकार के जीव जन्तु भी देखनो को मिलते है |

Things to See

Kaziranga national park अपने कई विशेषताओ के लिए जाना जाता है | यहाँ कई प्रकार के आकर्षक केंद्र है जो दर्शको को अपनी और आकर्षित करती है | आइए जानते है उन सभी आकर्षक केंद्र के बारे में |

वन / Jungle – काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान सदाबहार वन से घिरा है जो हमेशा हराभरा रहता है | इस वैन में कई तालाब एवं नदिया है जो इस वैन को हरा भरा रखने में सहयोग करते है | इस वैन में पेड पौधो के अलावा elephant grass अधिक पाए जाते है |

गेंडा / Rhinoceros – इस park में विश्व का सबसे अधिक मात्रा में गेंडा पाया जाता है | यहाँ कुल 2,401 गेंडे की जनसँख्या है जिसमे से 1,651 व्यस्क, 294 उप व्यस्क, 456 बच्चे शामिल है |

जल भैंस / Water Buffalo – इस प्रजाति के कुल जनसँख्या का 57% आबादी इस park में अपना जीवन व्यापन करते हुए नजर आते है |

जलीय वनस्पति – park के तालाबो एवं नदियों में कई जलीय पौधे पनपते है जो park को और भी आकर्षक बनाता है |

Best Time to Visit

काजीरंगा में वर्षा अहिक होती है जिस कारण अक्सर बाड़ की खबर सुनने को मिलता है | अगर आप इस park को देखना चाहते है या इस park का लुफ्त उठाने का सोच रहे है तो आप मानसून के समय को छोड़ कर आप किसी भी समय में इसके आकर्षण का लुफ्त उठा सकते है | मानसून में अधिक बारिश होने के कारण मानसून में park को बंद कर दिया जाता है |

Transport

काजीरंगा पहुचने के लिए सरकार ने park तक पक्की सड़क की व्यवस्था कर रखी है | यह सड़क काजीरंगा के आसपास के शहर तेजपुर एवं गोलाघाट को जोड़ता है | गुवाहाटी से काजीरंगा की दुरी 250 km है जहा से आप कैब या अन्य सेवा का लुफ्त ले सकते है |

हवाई जहाज – अगर आप अपना सफ़र हवाईजहाज से कर रहे है तो आप काजीरंगा के नजदीकी airport जोरहाट, दीमापुर, गुवाहाटी या तेजपुर आ सकते है जहा से बस, टेक्सी या अन्य सवारी के मदद से park तक पहुच सकते है | park से तेजपुर 100 km जोरहाट 97 km, दीमापुर 172 km एवं गुवाहाटी की दुरी 217 km है |

रेलगाड़ी – अगर आप इस स्थान का लुफ्त उठाने के लिए रेल से आ रहे है तो आप नजदीकी स्टेशन बोकाखाट, गोलाघाट स्टेशन पहुच सकते है जहा से आपको काजीरंगा के लिए अन्य विकल्प आसानी से उपलब्ध हो जाएँगे | इन स्टेशनों की दुरी क्रमशः 23 km एवं 65 km है |

बस – अगर आप भारत दर्शन करते हुए road सेवा का लुफ्त लेते हुए पहुच रहे है तो असम सरकार परिवहन निगम के द्वारा कई पर्यटन बस संचालन कर रखा है जो आपको काजीरंगा तक पंहुचा देगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *