Bandipur National Park details – Timing, Safari, Charges

Janiye is Bandipur National Park se judi information jaise entrance timing, safari, charges, contact number, guest house, best time to visit, things to see Hindi mein. भारत में कई राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना की गई है जिनमे से एक उद्यान दक्षिण भारत के कर्नाटक राज्य में स्थित बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान है | यह उद्यान वन्यजीव एवं बायोम के लिए जाना जाता है पर यहाँ पर स्थित शुष्क पर्णपाती वन प्रमुख है | यह पार्क उन सभी पर्यटकों के लिए काफी आकर्षक है जिन्हें प्रकृति से काफी प्रेम है या जो प्रकृति के बीच रहना चाहते है | यह पार्क भारत के कर्नाटक राज्य में स्थित चामाराजानगर जिले के गुंडलुपेट तालुका में स्थित है | यह park कुल 870 sq km के क्षेत्रफल में फैला हुआ है जहाँ पर्यटकों को विभि प्रकार के जीव जंतु एवं वनस्पति देखने को मिलता है | इस park की स्थापना 1974 में की गई |

Bandipur Nationl Park - Tiger



About and History

Park Name Bandipur National Park
Establishment 1974
Area 874 km2
Contact Number 82292-36043 / 82292-36044
Email-ID directorbandipur@gmail.com
Working Days Sunday to Saturday
Visiting Time 06:00 AM – 06:30 PM
04:00 PM – 06:30 PM (Safari Timing)
Entry Fee with safari Charge (For Indian) Rs 300
Entry Fee with safari Charge (For Foreigner) Rs 1,500
Photography Allowed
Videography Charge Rs 200

कर्नाटक राज्य में स्थित बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना सन 1974 में बाघ परियोजना के तहत बाघ संरक्षण के रूप में किया गया था | पुराने समय में यह उद्यान मैसूर साम्राज के महाराज का निजी शिकार क्षेत्र था | सन 1931 में मैसूर के महाराष्ट्र ने इस क्षेत्र को 90 km2 के क्षेत्रफल में एक अभ्यारण का निर्माण किया गया जिसका नाम वेणुगोपाल वन्यजीव उद्यान रखा गया | सन 1973 में इस उद्यान का विस्तार 90 से बढाकर 800 sq km कर दिया गया जिसे लोग बांदीपुर बाघ संरक्षण के रूप में जाना जाने लगा | इसके विस्तार के एक साल के बाद 1974 में सरकार इसे राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया | कुछ समय पहले इस park के सीमा के चारो और स्थित नागरहोल राष्ट्रीय उद्यान, मुदमुलाई राष्ट्रीय उद्यान और वायनाड वन्यजीव अभयारण्य, निलगिरी जीवमंडल रिजर्व को मिलाकर इसे संरक्षित क्षेत्र का निर्माण किया गया जिसे दक्षिण भारत का सबसे बड़ा सरक्षण क्षेत्र के रूप में जाना जाता है एवं इस park को दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा दक्षिणी हाथियों का निवाश स्थान के रूप में जाना जाता है | इसके अलावे आप Dachigam national park के बारे में भी यहाँ पढ़े |

Address:-

Bandipur National Park
Located at: Gundlupet
Place: Chamarajanagar
City: Bandipur
State: Karnataka
Pin Code: 571126

Nearest City

  • Distance from Mysore – 80 km
  • Distance from Ooty – 76 km
  • Distance from Coimbatore – 164 km
  • Distance from Mudumalai – 11 km
  • Distance from Bangalore – 230 km

Wildlife

Entrace gate of Bandipur बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान काफी घने जानलो से घिरा हुआ है | इस जंगल कई प्रजाति के वन्यजीव एवं वनस्पति का आवास स्थान है | इस जंगल में वनस्पति के रूप में आपको इमारती लकड़ी के पेड़ अधिक मिलेंगे जैसे सागवान, शीशम, चन्दन, Indian laurel, Indian kino tree, giant clumping bamboo, clumping bamboo and Grewia tibiae folia आदि | इन इमारती लकडियो के अलावा यहाँ पर और भी कई प्रकार के वनस्पति, फल एवं फुल के प्रजाति पाए जाते है |

इस park में वनस्पति जितना आपको अपनी और आकर्षित करेगी उससे कही अधिक आकर्षित यहाँ मौजूद जीव जंतु करेगी | इस park में कई प्रजाति के जीव विचरण करते है जो park के आकर्षण का केंद्र बने हुए है | इन सभी प्रजातियों में सबसे अधिक आकर्षण का केंद्र के रूप में यहाँ के जीव बाघ, चीता, हांथी, भालू, गौर्स, मगरमच्छ, अजगर, चार सींग वाला हिरण, लोमड़ी आदि | इन जानवरों के अलावा यहाँ पर कई अन्य प्रकार के स्तनधारी जीव जंतु पाए जाते है |

उपर्युक्त सभी जीव जंतु एवं वनस्पति के अलावा आप यहाँ विभिन्न प्रजाति के पक्षियों को भी देख सकते है | इस पार्क में मौनसून एवं शीत ऋतू में कई पक्षीय प्रवास के लिए आते है एवं मौसम के बदलते ही ये सभी वापस चले जाते है | प्रवासी पक्षियों के अलावा आपको इस park में आपको आवासी पक्षी भी बड़े ही आसानी से देखने को मिल जाएँगे |



Things to See /  देखने योग्य चीजे

Elephant in Bandipur wildlife national park

किसी भी स्तन पर जाने से पहले लोग उस स्थान पर मौजूद आकर्षण के केंद्र को जानने के लिए काफी ललाईत रहते है | हर कोई यह जानने को इक्षुक होता है की वह ऐसी कौन कौन चीजे है जो लोगो को आकर्षित करके रखती है |

वनस्पति – चारो और से घिरे इस park में कई दुर्लभ प्रजाति के वनस्पति के मिलने का आसार होता है | यहाँ आपको कई प्रजाति के वनस्पति मिलेंगे जो यहाँ के वातावरण को सुगन्धित एवं आकर्षक बनाने का कार्य करती है |

बाघ – यह स्थान पुराने समय में राजा महाराजाओ का शिकार क्षेत्र था जहा बाघों की संख्या अधिक थी | यहाँ अधिक बाघ होने के कारण इस क्षेत्र को बाघ संरक्षण केंद्र के रूप में इसे स्थापित किया गया था |

चार सींग वाला हिरण – इस park का एक अदभुत आकर्षण का केंद्र बना हुआ है | यहाँ स्थित सभी जानवरों में एक जानवर चार सिंह वाला हिरण है जो लोगो को अपनी और काफी आकर्षित करता है | इसके चारो सींग इसके सर पर है |

स्तनधारी – इन सभी जानवरों के अलावा आपको इस park में अदभुत स्तनधारी जानवर देखने को मिलेंगे | ये सभी स्तनधारी जैसे हिरन, गिलहरी, लोमरी (fox)  इत्यादि  park के आकर्षण का केंद बे हुए है जो पर्यटक को अपनी और आकर्षित करता है |

पक्षी – यहाँ के पेड़ पौधो एवं तालाबो को बड़े ही अच्छे से शुशोभित करते हुए कई प्रकार की पक्षियाँ नजर आएँगी जो आपको अपनी और आकर्षित करेगी | ये सभी पक्षीय मौसम के साथ आते है एवं मौसम के जाते ही चले जाते है |

सांप – इस उद्यान के जंगलो में कई प्रकार के साप निवास करते है | इन जंगलो में आपको अजगर, कोबरा, वाइपर के अलावा और भी कई प्रकार के सांप देखने को मिल सकते है |

Safari Timing

अगर आप Bandipur national park में safari का plan कर रहे है तो आप यहाँ safari का भरपूर लुफ्त उठा सकते है | इस उद्यान में safari के लिए जीप एवं हाथी दोनों की व्यवस्था है | अगर आप बांदीपुर राष्ट्रिय उद्यान का लुफ्त उठाना चाहते है तो आप सुबह 06:30 से शाम 6:30 के बीच जा सकते हैं और Safari का timing शाम को 04:00 से 06:30 के बीच है |

Best Time to Visit

किसी भी स्थान का लुफ्त एक निश्चित समय अवधि में प्राप्त किया जा सकता है | अगर आप इस उद्यान में घूम कर इसका लुफ्त उठाना चाहते है तो आप सितम्बर से अप्रैल के मध्य इसके खूबसूरती का लुफ्त उठा सकते है | सितम्बर से नवम्बर के मध्य का समय वर्षा ऋतू का होता है | इस मौसम में वर्षा के बाद चारो और अधिक हरियाली दिखती है और बदल यूक्त आसमान के नीचे वैन का लुफ्त उठाने का अलग ही मजा आता है | फरवरी एवं मार्च वसंत ऋतू का मौसम होता है | इस मौसम में चारो और सुन्दर एवं सुगन्धित फुल खिले होते है जो वातावरण को सुगन्धित करता है |

Transport / How to Reach

बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान का लुफ्त उठाने के लिए आपको इस park में आना बेहद आवश्यक है | और इस park तक आने के लिए आपको हवाई मार्ग, रेल मार्ग या सड़क मार्ग का इस्तेमाल करना होगा | क्या आप जानते है की आप इस park तक कई पहुच सकते है |

Airport – अगर आप हवाई की यात्रा कर रहे है तो इस park तक आने के लिए आपको इसके नजदीकी airport बैंगलोर है जहाँ से park की दुरी मात्र 220 km है जहा से आप अन्य यातायात सुविधाओ का इस्तेमाल कर पहुच सकते है |

Train – इस park तक पहुचने के लिए आप ट्रेन मार्ग का इस्तेमाल कर सकते है इस park के समीप का स्टेशन मैसूर है जहा से इसकी दुरी मात्र 80 km है | आप स्टेशन से टैक्सी या बस के माध्यम से park तक पहुच सकते है |

Bus – Bandipur national park भारत में फैली राष्ट्रिय राजमार्ग के NH – 766 पर स्थित है जो केरला एवं कर्नाटक को जोड़ता है | इस मार्ग पर चलाए वाले साधने के मदद से आप इस park तक पहुच सकते है |

Guest House / Accommodation

अगर आप Bandipur national park आ रहे है तो आप यहाँ आने से पहले ही अपने रहने एवं यहाँ के पर्यावरण का लुफ्त उठाने के लिए सभी सुविधाओ का व्यवस्था कर सकते है | यहाँ स्थित सभी सुविधाओ के लिए आप इस उद्यान के official site http://bandipurtigerreserve.in/ पर जाकर सभी सुविधाओ की जानकारी प्राप्त कर सकते है | आप इस उद्यान के enquary के लिए 08229-236-051 या 08229-236-060 पर phone कर प्राप्त कर सकते है |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *